प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि रजिस्ट्रेशन, फॉर्म, पात्रता, दस्तावेज।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सरकार ने कसानो के लिए एक स्कीम शुरू किया है ‘प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना‘। इस किसान सम्मान निधि योजना के तहत सभी किसान को हर साल 6000 हजार का मदद दी जाएगी। ये पैसा किसान को लोन के तोर पर नहीं किसान सम्मान निधि स्कीम के तहत दिया जा रहा। PM Kisan Samman Nidhi के तहत लोगो को जो पैसा मिलेगा वह उनको वापिस नहीं करना है और ना ही कई ब्याज देना है।

इस योजना से सभी किसान परिबार को हर साल 6000 रुपय दिया जायेगा। यह पैसे साल के 3 किस्तों में दिया जायेगा (2000+2000+20000). प्रधानमंत्री मोदी 24 Feb 2019 को गोरखपुर से किसान सम्मान निधि का पहला किस्त सीधे किसानों के बैंक में ट्रांसफर कर दिया था। अगर आप भी इस योजना का लाभ उठाना चाहते हो तो इस आर्टिकल को पूरी पढ़कर जल्दी से जल्दी अप्लाई कर दे।

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि

भारत एक कृषि प्रधान देश है। आज भी भारत के लाखो करोड़ लोगो के मुख्य कमाई का जरिये कृषि है। भारत कृषि पर निर्भर करने वाला देश होने के बादजूद भी हमारे देश के कृसानो के आर्थिक हालत सही नहीं है। किसान को बैंक से लोन तो मिल जाता है लेकिन फसल का सही दाम ना मिलने के कारन वह बैंक को पैसे वापिस नहीं लोटा पता। इतना पीड़ा उठाने के बाद भी किसान खेती छोड़ने को राजी नहीं है। इस लिए भारत सरकार किसान को सम्मान देने के लिए, उनका आभार जताने के लिए किसान सम्मान निधि योजना का शुरुयात किया है।

प्रधानमंत्री मोदी ने 2022 तक किसानों का इनकम दो गुना करने की वादा किया था। इसी लक्ष को पूरा करने के लिए किसानों के हित में नया नया योजना शरू किया जा रहा है। पहले pm kisan samman nidhi योजना में सिर्फ 2 हेक्टेयर (5 बीघा) से काम जमींन धारक को ही लाभ मिल रहा था, अब इसके दायरा को बढ़ाया गया है। ताकि सभी किसान को इसका लाभ मिल पाए।

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि का महत्वपूर्ण लक्ष्य

  1. किसान सम्मान निधि योजना के लाभार्थी लिस्ट में आने वाले लोगो को हर साल 6000 रूपए तीन किस्तों में दिया जायेगा।
  2. लाभार्थी के पैसे सीधे उनके बैंक अकाउंट में ट्रांसफर होगा।
  3. सरकार का लक्ष है 2022 तक किसानों के आय दोगुना करने का, इस लक्ष को पूरा करने के लिए सरकार लगातार काम कर रहा है।
  4. PM kisan samman nidhi योजना में 15 करोड़ किसान लाभ मिलगा।
  5. इस योजना से मिलने वाला पैसा किसान खेत के किसी भी काम में इस्तेमाल कर सकता है।

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना रजिस्ट्रेशन

इस योजना के लाभार्थी सूची देने की जिम्मेदारी राज्यों सरकार की है। किसान सम्मान निधि योजना की आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन उपलब्ध नहीं है। अवदान (रजिस्ट्रेशन) करने के लिए आपको अपनी एरिया के लेखपाल से मिलना होगा। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि में लोगो को रेगिस्टरेशन करवाने के काम उन्ही के पास होता है। अगर आप इस योजना के योग्यता (पात्रता) रखते हो तो लेखपाल जरूर आपका नाम लाभती सूची में डालने में मदद करेगा। आपके एरिया के लेखपाल कहा पर मिलेगा और इस योजना के बारे में जानने के लिए आप ग्राम पंचायत ऑफिस जाकर जानकारी प्राप्त कर सकते हो।

किसान सम्मान निधि का लाभ लेने के लिए आपके पास किया किया योग्यता होना चाहिए और कोन कोन से दस्तावेज चाहिए होगा वह सब निचे बताया गया है। आपने पहले आवेदन किया था लेकिन आपको पैसा अभी तक नहीं मिला तो भी आप लेखपाल से मिलकर इसका समाधान निकाल सकते हो। जिन लोगो ने रेगिस्टरेशन हो गया हे लेकिन पैसा नहीं मिला उनको अलगी किस्त में पहले का पैसे और वर्तमान के 2000 रूपए भी दे दिया जौएगा।

PM Kisan Samman Nidhi Eligibility

  1. यह पैसा सिर्फ उन्हों को दिया जायेगा जिनके पास कृषि करने लायक जमीन है पात्रता।
  2. 2015-16 में एक कृषि गणना हुआ था उकसे आधार पर किसान सम्मान निधि के लाभाथी चयन किया जायेगा।
  3. जिन किसान के आय ज्यादा है उनको इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा।

किसान सम्मान निधि योजना के जरूरी दस्तावेज

  1. लाभती के पास अपना परिचय पत्र होना चाहिए जैसे की आधार कार्ड, राशन कार्ड होना चाहिए।
  2. कृषि जमीन के रजिस्ट्रेशन पेपर होना चाहिए।
  3. बैंक पास बुक फोटो कॉपी जिसमे पैसे ट्रांसफर किया जायेगा।
  4. आवेदन करते समय आपको मोबाइल नंबर देना होगा जिसमे सरकार इस योजना से जुड़े जानकारी भेजता रहेगा।

यह भी पढ़े –

पम किसान सम्मान निधि योजना वेबसाइट और कस्टमर केयर नंबर

इस योजना से जुड़े कई भी जानकारी लेने के लिए आप इन हेल्पलाइन का इस्तेमाल कर सकते हो या फिर आप ग्राम पंचायत से भी इसके जानकारी प्राप्त कर सकते हो।

वेबसाइट pmkisan.gov.in
ईमेल आईडी pmkisan-ict@gov.in
फ़ोन नंबर 011-23381092

 

Updated: 02/06/2019 — 6:26 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *