UP Marriage Registration- इंडिया में विवाह धार्मिक नियम से भी क्या जाता है और कोर्ट में जाकर भी क्या जाता है। जो लोग विवाह कानून के मुतानिक करते है उसको मैरिज रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट मिल जाता है, लेकिन जो लोग धार्मिक नियम से शादी करते है उनको विवाह पंजीकरण सर्टिफिकेट नहीं मिलता। इस लिए धार्मिक मान्यता से शादी करने वाले लोगो को आगे जाकर कुछ मुश्किलों का सामना करना पड़ता है।

जो लोग धार्मिक मान्यता के अनुसार विवाह करते है उनको बाद में क़ानूनी रूप से मैरिज रजिस्ट्रेशन कर लेना चाहिए।  इसी चीज़ को UP सरकार ने आसान करते हुए ऑनलाइन यू पी मैरिज रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया शुरू क्या है। इस से अब आपको मैरिज रजिस्ट्रेशन के लिए सरकारी ऑफिस में जाने की जरुरत नहीं है। अब आप ऑनलाइन मैरिज रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट प्राप्त कर सकते हो।

Marriage Crtificate Online UP
Marriage Crtificate Online UP

UP marriage registration को ऑनलाइन करना यूपी सरकार की एक अछि सोच। मैं उम्मीद करता हु की आने वाला दिनों में यूपी के सभी सरकारी चीज़े ऑनलाइन उपलब्ध हो जाये। और अगर आप यूपी के बहार किसी दूसरे राज्य में रहते हो तोह यूपी मैरिज रजिस्ट्रेशन की तरह वोहा पर भी ऑनलाइन शादी रजिस्ट्रेशन सुविधा चालू हो गया है। आप गूगल पर कर सर्च करे marriage registration  (अपनी राज्य नाम)  लिखकर।

यू पी विवाह पंजीकरण पूरी तरह आधार नंबर आधारित है। मतलब यह की पति और पत्नी दोनों का आधार नंबर होना चाहिए, आधार नहीं है तोह ऑनलाइन विवाह पंजीकरण नहीं हो सकता। आधार ना होने पर आप सिर्फ रजिस्ट्रेशन फार्म ही जमा कर पयोगे ऑनलाइन और आगे की प्रक्रिया आपको ऑफिस जाकर ही करना होगा।

पति और पत्नी दोनों के पास आधार नंबर है तोह ऑनलाइन शादी रजिस्ट्रेशन कर सकते है। सिर्फ आधार नंबर होने से काम नहीं बनेगा, आधार पर मोबाइल नंबर रजिस्टर्ड भी होना होगा। मोबाइल नंबर रेजिस्टर्ड ना होने पर आप आधार को वेरीफाई नहीं कर पयोगे। मोबाइल नंबर रजिस्ट्रेशन ना होने पर आप सिर्फ रजिस्ट्रेशन फॉर्म ही जमा कर पयोगे, आगे की प्रक्रिया आपको मर्रिज रजिस्ट्रेशन ऑफिस में जाकर ही करना होगा।

Aadhaar Based Marriage Registration UP 

UP Marriage Registration Online करने के लिए आधार में मोबाइल रजिस्टर्ड होने पर कोन कोनसे शर्तों

का पालन करना होगा और आधार में मोबाइल नंबर ना होने पर कोनसे शर्तों का पालन करना होगा निचे बताया गया है-

आधार पर मोबाइल नंबर रजिस्टर्ड है आधार पर मोबाइल नंबर रजिस्टर्ड नहीं है
  1. पति और पत्नी के पास चालू आधार कार्ड होने चाहिए।
  2. दोनों के साथ के साथ मोबाइल नंबर रजिस्टर्ड होना चाहिए और वह मोबाइल नंबर चालू और आपके पास होना चाहिए।
  3. पति और पत्नी में से  किसी एक को भारतीय नागरिक होना ही होगा।
  4. आधार में दर्ज जानकारी के अनुसार पति और पत्नी का निबास उत्तर प्रदेश में होना चाहिए
  5. सम्बन्धित विवाह यूपी राज्य में सम्पन्न हुआ हो।
  1. विवाह पंजीकरण फार्म हिंदी और इंग्लिश दोना भाषा में लिखना होगा।
  2. विवाह पंजीकरण फार्म भरने से पहले आप अभी का एक छायाचित्र 40 KB के काम के साइज में और JPG फॉर्मेट और पहचान प्रमाण पत्र, आयु प्रमाण पत्र, एड्रेस प्रमाण पत्र PDF फॉर्मेट में कंप्यूटर/मोबाइल में सेव करके रखने।
  3. फॉर्म में आप जो पता भरोगे वह आपके द्वारा अपलोड क्या गया प्रमाण पत्र में भी होना चाहिए।
  4. मोहल्ला/गाँव के ड्रॉप डाउन के विकल्प में यदि वांछित मोहल्ला/गाँव का नाम उपलब्ध नहीं है तो उस मोहल्ला/गाँव का नाम पते के विकल्प में भर दें।
  5. प्रपत्र को पूर्ण रूप से सुरक्षित करने के पश्चात रजिस्ट्रेशन फीस का भुगतान ऑनलाइन अथवा सम्बंधित कार्यालय में जाकर किया जा सकता है।
  6. फॉर्म को Save करने के बाद आवेदन पत्र संख्या और पासवर्ड आपको दिए जायेगा उसको कही पर लिखकर रखे। उसकी जरुरत आपको बाद में पढ़ेगा।

 

UP Marriage Registration Certificate ऑनलाइन कैसे बनाये

उत्तरप्रदेश में मैरिज रजिस्ट्रेशन ऑनलाइन करने के लिए आपको स्टाम्प एवं रजिस्ट्रेशन विभाग के वेबसाइट को ओपन करना होगा। इस वेबसाइट पर आपको Vivah Registration के फॉर्म मिल जायेगा। विवाह पंजीकरण करने के लिए इस वेबसाइट को आपने करे- https://igrsup.gov.in/

स्टाम्प एवं रजिस्ट्रेशन विभाग का वेबसाइट को ओपन करके आपको विवाह पंजीकरण सेक्शन पे जाकर आवेदन करें पर क्लिक करना है। निचे आप स्क्रीनशॉट पर देख सकते हो।

आवेदन करें

जैसे की मैंने आपको बताया था की यूपी का मैरिज रजिस्ट्रेशन प्रकिया पूरी तरह आधार आधारित है। इस लिए यहां पर यूपी सरकार को आपके आधार नंबर और आधार इनफार्मेशन को प्रमाणीकरण करने का सहमति देना होगा। सहमति देने के लिए आपको I give my consent to use my Aadhaar number……. के बॉक्स पर (✓) निशान देना है,  पति और पत्नी के आधार के में मोबाइल नंबर रजिस्टर Θ है या Θ नहीं बताना है। इसके बाद आपको आवेदन विवाह पंजीकरण पर क्लिक करना है।

विवाह पंजीकरण

अब आपको नवीन आवेदन प्रपत्र भरें पर क्लिक करना है। और अगर आपने पहले से अप्लाई क्या है तोह पास ही एक प्रयोक्ता लॉगिन बॉक्स होगा वोहा पर आवेदन संख्या और पासवर्ड डालकर देख सकते हो की आपके up marriage certificate बना है या नहीं। हमे नया रेजिस्टशन करना है इस लिए आप नवीन आवेदन प्रपत्र भरें पर क्लिक करदे।

नबीन विवाह पंजीकरण

अब पति और पत्नी के आधार नंबर डालकर OTP से वेरीफाई करना है और विवाह स्थल की जानकारी देना है। तोह सबसे पहले आप पति का आधार नंबर डालकर OTP प्राप्त करें पर क्लिक करदे। इतना करते ही पति के आधार पर लिंक मोबाइल नंबर पर sms से एक कोड आएगा जो आपको भरकर वेरीफाई करना है। ठीक इसी तरह पत्नी का भी आधार नंबर वेरीफाई करले और लास्ट में विवाह स्थल की जानकारी भरकर फार्म को Save करदे।

विवाह पंजीकरण फार्म   

फॉर्म को save करने के बाद आपको एक Application Id और Password दिखायेगा उसको नोट करके रखे। इसी आईडी पासवर्ड से लॉगिन करके आप देख सकते हो की आपका मैरिज रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट बना है या नहीं और अपनी जानकारी को चेंज भी कर सकते हो। यह भी पढ़े- जनसुनवाई यू पी पोर्टल से शिकायत दर्ज कैसे करे

 

नोट-  ऊपर बताया गया तरीका से विवाह रजिस्ट्रेशन करने के लिए आपके आधार के साथ मोबाइल नंबर रजिस्टर्ड होना जरूरी है। अगर आपके आधार पर मोबाइल नंबर नहीं है तोह आप ऑनलाइन विवाह पंजीकरण फार्म जमा कर सकते हो और मैरिज रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट बना सकते हो। लेकिन इस प्रोसेस में आपको फार्म जमा करने के बाद सरकारी ऑफिस जाना होगा। अधिक जानकारी के लिए आप यह PDF पेज को पढ़िए –  MarriageRegistration_User_Mannual.pdf

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here